Delhi, 2 months ago

Bhagwan Ram Family Tree (भगवान राम का वंशावली )

हिन्दू धर्म में भगवान राम को एक प्रतिष्ठानीय और पौराणिक व्यक्ति माना जाता है, जो अपनी श्रीमद् रामायण में विविध लीलाएं और शिक्षाएं सिखाते हैं। भगवान राम का वंश, सूर्यवंश के रूप में जाना जाता है, जिसमें राम चालीसवीं पीढ़ी के होते हैं। यह वंशावली भगवान राम के पूरे परिवार को बताती है और उनके आदिकाल से लेकर उनके समय तक के पूर्वजों की सूची प्रदान करती है।

भगवान राम का परिचय: भगवान राम, भगवान विष्णु के सातवें अवतार माने जाते हैं और वे आयोध्या के राजा दशरथ के पुत्र थे। राम, सीता, लक्ष्मण, और हनुमान के महाकाव्यिका रामायण का केंद्रीय पात्र थे, जिनके जीवन की कहानी ने नैतिकता, धर्म, और भक्ति के माध्यम से मानवता को मार्गदर्शन किया।
भगवान राम का परिवार: भगवान राम का परिवार सूर्यवंशी राजा दशरथ के वंश से संबंधित है। यहां हम भगवान राम की चालीसवीं पीढ़ी तक के वंशावली का विवरण प्रस्तुत कर रहे हैं:
Jai Siya Ram

1.    पहली पीढ़ी: ब्रह्मा का उत्पत्ति

2.    दूसरी पीढ़ी: मरीचि, ब्रह्मा के पुत्र

3.    तीसरी पीढ़ी: कश्यप, मरीचि के पुत्र

4.    चौथी पीढ़ी: विवस्वान, कश्यप के पुत्र

5.    पांचवीं पीढ़ी: वैवस्वत, विवस्वान के पुत्र

6.    छठी पीढ़ी: इक्ष्वाकु, वैवस्वतमनु के पुत्र और इक्ष्वाकु राजा बने

7.    सातवीं पीढ़ी: कुक्षि, इक्ष्वाकु के पुत्र

8.    आठवीं पीढ़ी: विकुक्षि, कुक्षि के पुत्र

9.    नववीं पीढ़ी: बाण, विकुक्षि के पुत्र

10.    दशवीं पीढ़ी: अनरण्य, बाण के पुत्र

11.    ग्यारहवीं पीढ़ी: पृथु, अनरण्य के पुत्र

12.    बारहवीं पीढ़ी: त्रिशंकु, पृथु के पुत्र

13.    तेरहवीं पीढ़ी: धुंधुमार, त्रिशंकु के पुत्र

14.    चौदहवीं पीढ़ी: युवनाश्व, धुंधुमार के पुत्र

15.    पंद्रहवीं पीढ़ी: मान्धाता, युवनाश्व के पुत्र

16.    सोलहवीं पीढ़ी: सुसन्धि, मान्धाता के पुत्र

17.    सत्रहवीं पीढ़ी: अंशुमान, सुसन्धि के पुत्र

18.    अठारहवीं पीढ़ी: भरत, अंशुमान के पुत्र

19.    उन्नीसवीं पीढ़ी: असित, भरत के पुत्र

20.    बीसवीं पीढ़ी: सगर, असित के पुत्र

21.    इक्कीसवीं पीढ़ी: असमंज, सगर के पुत्र

22.    बाइसवीं पीढ़ी: अंशुमान, असमंज के पुत्र

23.    तेइसवीं पीढ़ी: दिलीप, अंशुमान के पुत्र

24.    चौबीसवीं पीढ़ी: भगीरथ, दिलीप के पुत्र

25.    पच्चीसवीं पीढ़ी: ककुत्स्थ, भगीरथ के पुत्र

26.    छब्बीसवीं पीढ़ी: रघु, ककुत्स्थ के पुत्र

27.    सत्ताईसवीं पीढ़ी: प्रवृद्ध, रघु के पुत्र

28.    अठ्ठाइसवीं पीढ़ी: शंखण, प्रवृद्ध के पुत्र

29.    उनतालीसवीं पीढ़ी: सुदर्शन, शंखण के पुत्र

30.    तीसवीं पीढ़ी: अग्निवर्ण, सुदर्शन के पुत्र

31.    इकत्तीसवीं पीढ़ी: शीघ्रग, अग्निवर्ण के पुत्र

32.    बत्तीसवीं पीढ़ी: मरु, शीघ्रग के पुत्र

33.    तेतीसवीं पीढ़ी: प्रशुश्रुक, मरु के पुत्र

34.    चौंतीसवीं पीढ़ी: अम्बरीष, प्रशुश्रुक के पुत्र

35.    पैंतीसवीं पीढ़ी: नहुष, अम्बरीष के पुत्र

36.    छत्तीसवीं पीढ़ी: ययाति, नहुष के पुत्र

37.    सैंतीसवीं पीढ़ी: नाभाग, ययाति के पुत्र

38.    अठतीसवीं पीढ़ी: अज, नाभाग के पुत्र

39.    उनतालीसवीं पीढ़ी: दशरथ, अज के पुत्र

40.    चालीसवीं पीढ़ी: राम, भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न, दशरथ के चार पुत्र

चालीसवीं पीढ़ी: राम, भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न - भगवान राम की चालीसवीं पीढ़ी में उनके पिता के रूप में दशरथ होते हैं। दशरथ के चार पुत्र भगवान राम, भरत, लक्ष्मण, और शत्रुघ्न होते हैं। इस पीढ़ी के बाद ही रामायण की कथा आरंभ होती है, जिसमें भगवान राम का अयोध्या के राजा बनना और उनके द्वारा की गई राजा क्षेत्र में उनके लीलाओं का वर्णन होता है।

इस वंशावली के माध्यम से हम देख सकते हैं कि भगवान राम का वंश कैसे सूर्यवंश के रूप में आगे बढ़ता है और उनके पूर्वजों का समृद्धि और धर्म के प्रति प्रतिबद्धता का वर्णन होता है। यह वंशावली हमें भगवान राम के परिवार के महत्वपूर्ण सदस्यों की सूची प्रदान करती है और हमें उनके पूर्वजों के बड़े महत्वपूर्ण भूमिकाओं के बारे में बताती है।

यदि आप भगवान राम के वंश की विस्तृत सूची की खोज कर रहे हैं, तो आप सही जगह पर आए हैं, क्योंकि हमने यहां भगवान राम की चालीसवीं पीढ़ी को सूचीबद्ध किया है।

0 0 0
Login or Signin

You may also like …

Are You The Proud Hindu?

Join us to spread the message of Hinduism

The Trimurti

Create an account to join us and start taking part in conversations.

SIGNIN